Friday , July 28 2017
Home / साधना / बगलामुखी साधना विधि
बगलामुखी साधना और विधि
बगलामुखी साधना और विधि

बगलामुखी साधना विधि

बगलामुखी साधना विधि

एक वक़्त की बात है जब में कॉलेज में पड़ता था तो मेरे एक दोस्त के भाई पर झूठा मौत का मुकदमा चल पड़ा था । मेने कितनी बार उस के इस दर्द को एहसास किया उसके भाई निर्दोष होते हुए भी झूठे केस में पढ़ गया है।

एक दिन में उसके घर गया तो क्या देखता हूँ पुराना सा घर है और मुश्किल से ही गुजारा हो रहा था । जब में बैठा तो मुझे आरती करने की आवाज़ आई मेने अपने दोस्त से पूछा यह पूजा कौन कर रहा है। उसने उत्तर दिया बड़े भाई । फिर 15 मिनट के बाद उसका भाई आया और हमारे साथ बैठा तो उसे आद्यात्म में बहुत रूचि थी मेरे से आद्यात्म की जानकारी लेने लगा बातों बातों में पता चला वो देवी की पूजा करता था और झूठे केस से परेशान था। मेने उस से पूछा बगलामुखी  माता जी के बारे में सुना है । कहता नहीं ।

मेने उसे बगलामुखी माता जी की बारे में बताया की वह शत्रु नाशक देवी है , अगर आप सही हो और झूठे केस में पकडे गये हैं उनकी साधना करो । जरूर लाभ मिलेगा। इतना बताने से 2 दिन बाद उनकी खुद फ़ोन आया ।
मैं यह साधना कहा से करू ?
मेने उनको विधि बता दी और वो साधना में जूट गये।
1 महीने बाद उनका फ़ोन आया की मैं आपको मिलना चाहता हूँ । मेने कहा घर आ जाइये । वो एक मिठाई का डिब्बा और चेहरे पर खुशी थी। उन्होंने बताया कि आपसी रंजिश के तहत उनको फसाया गया था कातिल ने खुद कचहरी मान लिया है और धन्यवाद बोला साधना सिखाने के लिए। उनको साधना करने के समय पर बहुत अनुभूतियाँ हुई जो में यहाँ आपको नहीं बता सकता ।

आप भी माँ बंगलामुखी की साधना कर सकते हैं।

|  मन्त्र  ||

ॐ रीम श्रीम बगलामुखी वाचस्पतये नमः !

||  साधना विधि  ||

इस मन्त्र को बगलामुखी जयंती को पूरी रात लिंग मुद्रा का प्रदर्शन करते हुए सारी रात जप करते रहे यदि थक जाये तो थोडा आराम कर ले पर आसन से न उठे ! इस प्रकार यह मन्त्र एक रात में सिद्ध हो जाता है ! दुसरे दिन  किसी लड़की को पीला प्रसाद जरूर खिलाये और मंदिर में देवी दुर्गा को भी पीले प्रसाद का भोग लगाये !

||  प्रयोग विधि  ||

जब प्रयोग करना हो तो इस मन्त्र को 21 दिन 21 माला रात्रि में हल्दी की माला से जपे आपकी शत्रु बाधा से सम्बंधित सभी समस्याए शांत हो जाएगी !

यह मेरी अनुभूत साधना है आप एक बार इस साधना को जरूर करे !

About Bhardwaj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *