Monday , November 20 2017
Home / Trending Now / मुद्राएं जो नशा छुडवाएं और रक्त बडाये |
मुद्राएं जो नशा छुडवाएं और रक्त बडाये |
मुद्राएं जो नशा छुडवाएं और रक्त बडाये |

मुद्राएं जो नशा छुडवाएं और रक्त बडाये |

ज्ञान  मुद्रा : इस  लाभ हैं | आपने माँ सरस्वती को भी इसी मुद्रा में देखा होगा इसलिए इसे सरस्वती मुद्रा भी कहतें है | ज्ञान मुद्रा नकारात्मक विचारों या भावो को खत्म करता है जिसके कारण नशा करने का भाव उत्पन्न होता है | इसके उपयोग से तनाव से भी मुक्ति मिलती है और हमारे अंदर सकारात्मक भाव आतें है |                                                                                                         लगाने की विधि : अंगूठे और तर्जनी के शीर्ष को मिलाएं और बाकि उंगलिया  सीधी रखें | इसके बाद हाथों को अपने घुटनों पर इस तरह रखें की हथेली आसमान की तरफ हो | इसे जितनी देर लगा सकें लगायें |

Read this : अयोध्या की कहानी जिसे पढ़कर आप रो पड़ेंगे।

 

पृथ्वी मुद्रा : इससे तुरंत उर्जा मिलती है | इससे मन शांत होता है और शरीर की कमजोरी भी दूर होती है | ये शरीर में लोह तत्व , कैल्शियम , मग्निशिय्म और विटामिन की कमी को पूरा करती है | अनीमिया से ग्रस्त लोगों के लिए ये एक उतम उपचार है |                                                         लगाने की विधि : अनामिका और अंगूठे के शीर्ष को मिलाएं और हल्का दबाव बनाये रखें तथा बाकि उंगलिया बिलकुल सीधी रखें | इसे रोजाना 30 मिनट तक करें |

Read this : मोबाइल , कंप्यूटर और लैपटॉप से आँखों के बचाव के उपाये |

 

वरुण मुद्रा : इसे जलोदर मुद्रा भी कहतें है | अचानक ख़ून बहने की स्थिति में इससे खून बहना बंद हो जाता है | यह जल तत्व के प्रवाह को नियंत्रित करती है जिसके कारण खुल बहना कम हो जाता है |                                                                                                                                            लगाने की विधि : कनिष्ठा को मोड़ कर अंगूठे की जड़ में लगायें | तर्जनी , मध्यमा और आनामिका उंगलिया सीधी रखें | इसे 45 मिनट लगायें |