Thursday , December 14 2017
Home / धर्म / जब भगवान परशुराम ने ब्रह्मा नदी को दिया ये श्राप
Bhagwan Parshuram , Brahmputra River
Bhagwan Parshuram , Brahmputra River

जब भगवान परशुराम ने ब्रह्मा नदी को दिया ये श्राप

ब्रह्मा नदी चीन से शुरू होकर भारत से निकल कर बांग्लादेश से होते हुए हिन्द महासागर में विलय कर जाती है । यह नदी नहीं नद है जो हज़ारो करोड़ो लोगो को पानी और जीवन प्रदान करती है । यह गंगा नदी की तरह ही पूजनीय होनी चाहिए पर सनातन धर्म इसका पूर्ण रूप से बहिष्कार करता है।

क्या है कारण जो नदी का सनातन धर्म बहिष्कार करता है ?

बात उस वक़्त की है जब भगवान परशुराम ने अपनी माँ के कहने पर राक्षस रुपी क्षत्रियों का वध कर दिया। उन्होंने प्रण लिया था कि जब तक धरती को उस राक्षस रुपी क्षत्रिय समाज विहीन नहीं कर देते, तब तक स्नान नहीं करेंगे।

21 बार वध करने के बाद उन्होंने स्नान ब्रह्मा नदी में किया और फरसा भी धोया। उस स्नान के बाद भगवान परशुराम ने यह घोषणा की कि ब्रह्मा नदी का जल कभी भी धर्म कार्य में काम नहीं आयेगा, अगर आया तो उस कार्य का फल एवं पूर्ति नहीं होगी। यह परंपरा अभी तक चल रही है।

भगवान परशुराम के बिना रामायण और महाभारत दोनों अधूरी हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *