Monday , September 25 2017
Home / धर्म / क्यूँ ?

क्यूँ ?

शास्त्रों के अनुसार इन खूबियों को बोला गया है सच्चे मित्र की निशानी

शास्त्रों के अनुसार इन खूबियों को बोला गया है सच्चे मित्र की निशानी

दूसरों के सामने आपका सम्मान करना : सच्चे मित्र की सबसे बड़ी निशानी ये है की वो हमेशा आपके पीछे और किसी के भी सामने आपके गुणों  की तारीफ करेगा और आपको कभी भी किसी के सामने नीचा नहीं दिखायेगा | मुश्किल हालातों में सहायता देना : एक सच्चा मित्र …

आगे पढ़िए »

जानें क्यों एक रात के लिए पुनर्जीवित हुए थे महाभारत युद्ध में मारे गए वीर

महाभारत युद्ध के लिए जानें क्यों एक रात के लिए पुनर्जीवित हुए थे महाभारत युद्ध में मारे गए वीरको ही क्यों चुना था भगवान कृष्ण ने |

आज हम आपको महाभारत से जुडी एक अदभुत घटना के बारे में बता रहे है जब महाभारत युद्ध में मारे गए समस्त शूरवीर जैसे  एक रात के लिए पुनर्जीवित हुए थे यह घटना महाभारत युद्ध ख़त्म होने के 15 साल बाद घटित हुई थी। राजा बनने के पश्चात हस्तिनापुर में …

आगे पढ़िए »

वो काम जिनसे घटती है व्यक्ति की उम्र

वो काम जिनसे घटती है व्यक्ति की उम्र

महाभारत में एक प्रसंग आता है जिसमें विदुर ने धर्तराष्ट्र को मनुष्य की आयु कम करने वाले कारण बताएं है | ये है कारण : क्रोध : क्रोध मनुष्य का सबसे बड़ा दुश्मन है | गीता में भी लिखा गया है की जिसने अपने क्रोध पर विजय प्राप्त कर ली वो …

आगे पढ़िए »

महाभारत युद्ध के लिए कुरुक्षेत्र को ही क्यों चुना था भगवान कृष्ण ने |

महाभारत युद्ध के लिए जानें क्यों एक रात के लिए पुनर्जीवित हुए थे महाभारत युद्ध में मारे गए वीरको ही क्यों चुना था भगवान कृष्ण ने |

हम सभी को पता है की महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र में लड़ा गया था । युद्ध के लिए श्री कृष्ण जी ने स्वयं कुरुक्षेत्र को चुना था | लेकिन उन्होंने कुरुक्षेत्र को ही महाभारत युद्ध के लिए क्यों चुना इसकी कहानी कुछ इस प्रकार है। जब महाभारत युद्ध होने का …

आगे पढ़िए »

क्यों जलाया गया नालन्दा विश्वविद्यालय ?

क्यों जलाया गया नालन्दा विश्वविद्यालय ?

गुरुग्राम : बख्तियार खिलजी ने 1199 को विश्व प्रसिद्ध नालन्दा विश्वविद्यालय को जला कर पूर्णतः नष्ट कर दिया | उसके पीछे का कारण उसका सनकीपन और गुस्सा था । एक बार वह बहुत बीमार पड़ा और उसके हकीमों ने उसको ठीक करने की पूरी कोशिश की लेकिन वह ठीक नहीं हो सका …

आगे पढ़िए »

गंगा में विसर्जित अस्थियां आखिर जाती कहां हैं?

गंगा में विसर्जित अस्थियां आखिर जाती कहां हैं?

गुरुग्राम : गंगा नदी इतनी पवित्र है की प्रत्येक हिंदू की अंतिम इच्छा होती है उसकी अस्थियों का विसर्जन गंगा में ही किया जाए लेकिन यह अस्थियां जाती कहां हैं? इसका उत्तर तो वैज्ञानिक भी नहीं दे पाए क्योंकि असंख्य मात्रा में अस्थियों का विसर्जन करने के बाद भी गंगा …

आगे पढ़िए »

कौन हैं भगवान अरावन ? जिनके होती है हिजड़ों के साथ शादी ?

कौन हैं भगवान अरावन ? जिनके होती है हिजड़ों के साथ शादी ?

कौन हैं भगवान अरावन ? जिनके  होती है हिजड़ों के साथ शादी ? Gurugram :  भारत के तमिलनाडु राज्य में  देवता अरावन की पूजा की जाती है। कई जगह इन्हे इरावन के नाम से भी जाना जाता है। अरावन हिंजड़ो के देवता है इसलिए दक्षिण भारत में हिंजड़ो को अरावनी …

आगे पढ़िए »

क्यूँ खाया था पांडवो ने अपने मृत पिता का मॉस ?

अंग्रेजों ने कुछ इस प्रकार हमें कहानी  बताई जो की गलत थी | महाभारत से जुडी एक घटना है जिसमे पांचो पांडवों ने अपने मृत पिता पाण्डु का मांस खाया था |  उन्होंने ऐसा क्यों किया यह जानने के लिए हमें पहले  पांडवो के जन्म के बारे में जानना पड़ेगा। …

आगे पढ़िए »

तुलसी के पेड़ की पूजा क्यों करनी चाहिए ?

तुलसी के पेड़ की पूजा क्यों करनी चाहिए ?

तुलसी की पूजा करने से घर में समृद्ध‍ि आती है। सुख शांति बनी रहती है। प्राचीन काल से ही यह परंपरा चली आ रही है कि घर में तुलसी का पौधा होना चाहिए।शास्त्रों में तुलसी को पूजनीय, पवित्र और देवी स्वरूप माना गया है। इसका पूजन करना श्रेष्ठ होता है. इसका …

आगे पढ़िए »

जानें हाथ जोड़कर नमस्ते क्यों करते हैं ?

जानें हाथ जोड़कर नमस्ते क्यों करते हैं ?

जानें हाथ जोड़कर नमस्ते क्यों करते हैं ? हिन्दू धर्म में विशेष तौर पर जब किसी बड़े से मिलते हैं तो हाथ जोड़कर नमस्ते अथवा नमस्कार करते हैं। नमस्कार या प्रणाम करना एक सम्मान है, एक संस्कार है। प्रणाम करना एक यौगिक प्रक्रिया भी है।   दाहिना हाथ आचार अर्थात धर्म …

आगे पढ़िए »

व्रत क्यूँ रखते हैं ?

जानें व्रत क्यों रखना चाहिए ? हिन्दु्ओं के 10 प्रमुख कर्तव्य है:-  1.संध्योपासन, 2.व्रत, 3.तीर्थ, 4.उत्सव, 5.सेवा, 6.दान, 7.यज्ञ, 8.संस्कार 9. वेद पाठ,  धर्म प्रचार। इन 10 में से जानिए व्रत या उपवास के बारे में संपूर्ण जानकारी। कोई भी पूजा-पाठ या त्योहार होता है, तो लोग व्रत रखते हैं। …

आगे पढ़िए »

जानें सिर पर चोटी क्यों रखनी चाहिए ?

जानें सिर पर चोटी क्यों रखनी चाहिए ?

जानें सिर पर चोटी क्यों रखनी चाहिए ? हिंदू धर्म में ऋषि मुनी सिर पर चुटिया रखते थे। पौराणिक कहानियों में तो हम देखते-सुनते आ ही रहे हैं लेकिन वर्तमान समय में भी प्राय: पुरुषों को शिखा यानि चोटी रखे देखा जा सकता है। विशेषतौर पर ब्राह्मण वर्ग के लोग …

आगे पढ़िए »