Monday , January 21 2019
Home / धर्म (page 3)

धर्म

क्यूँ होती है स्वर्ण मंदिर कि दिवाली दुनिया में सबसे बेहतरीन

क्यूँ होती है स्वर्ण मंदिर कि दिवाली दुनिया में सबसे बेहतरीन

सिखों के लिए दीवाली का त्योहार मनाने के अपने स्वयं के महत्व है। जहाँगीर ने कही हिन्दू गुरुओं को बंधी बना के रखा था | दीपवाली में जहाँगीर ने अनेको हिन्दू गुरुओं को  मुक्त किया था उन में से एक थे आठवे गुरु हर गोबिंद सिंह जी |  गुरुओं  की …

आगे पढ़िए »

आपको जानकर हैरानी होगी कि भगवान शिव की एक बहन भी थीं

आपको जानकर हैरानी होगी कि भगवान शिव की एक बहन भी थीं

आपको जानकर हैरानी होगी कि भगवान शिव की एक बहन भी थीं. माना जाता है कि जब देवी पार्वती ने भगवान शिव से विवाह के बाद इच्छा जाहिर कि काश उनकी भी एक ननद होती. तब भगवान शिव ने पुछा मैं तुम्हें ननद तो लाकर दे दूं लेकिन क्या ननद के …

आगे पढ़िए »

जाने शनिवार को पीपल पर कच्चा दुध क्यों चढाया जाता है ?

जीवन को सुखमय बनाने के लिए भगवान को नियमित रूप से याद करना और उनकी पूजा करना बहुत जरूरी होता है. कई बार ऐसा होता है कि ग्रहों की चाल बदलने से जीवन में कष्‍टमय हो जाता है लेकिन ग्रहों की अनिष्टदायक स्थिति को मंगलमय बनाने के लिए कुछ सरल …

आगे पढ़िए »

करण के मरण के पीछे भगवन परशुराम के श्राप ।

Suryaputra-Karan

जब द्रोणाचार्य के पास सुत पुत्र करण शस्त्र विद्या सिखने के लिए गया था , तभ द्रोणाचार्य जी ने साफ़ मना कर दिया था निराश हो कर भगवन परशुराम जी के पास शास्त्र विद्या सीखने के लिए चला गया था। पर भगवान परशुराम जी ने प्रण लिया हुआ था कि …

आगे पढ़िए »

जानें करवा चौथ में चंद्र उदय का मुहूर्त

Karva Chauth

जानें करवा चौथ में चंद्र उदय का मुहूर्त करवा चौथ का व्रत हर साल आता है। सुहागिन महिलाओं के लिये यह दिन काफी अहम है क्‍योंकि वह यह व्रत पति की लंबी आयु और घर के कल्‍याण के लिये रखती हैं। करवा चौथ का व्रत कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष …

आगे पढ़िए »

करवा चौथ की कथा , पौराणिक इतिहास , नियम और सावधानियां

Karva Chauth

100 साल बाद आया है ऐसा करवाचौथ साथ ही व्रत की उत्तम विधि और मुहूर्त आइए सबसे पहले आपको बताते हैं कि कौन से योग इस करवाचौथ को दिव्य और चमत्कारी बना रहे हैं…. 100 साल बाद करवाचौथ का महासंयोग – करवा चौथ का त्यौहार इस बार बुधवार को मनाया …

आगे पढ़िए »

जब भगवान परशुराम ने ब्रह्मा नदी को दिया ये श्राप

Bhagwan Parshuram , Brahmputra River

ब्रह्मा नदी चीन से शुरू होकर भारत से निकल कर बांग्लादेश से होते हुए हिन्द महासागर में विलय कर जाती है । यह नदी नहीं नद है जो हज़ारो करोड़ो लोगो को पानी और जीवन प्रदान करती है । यह गंगा नदी की तरह ही पूजनीय होनी चाहिए पर सनातन …

आगे पढ़िए »

रावण की ये खूबियां बनाती हैं उसे महान

ravan

रावण की ये खूबियां बनाती हैं उसे महान 1. रावण की मां का नाम कैकसी था और पिता ऋषि विशर्वा थे। कैकसी दैत्य कन्या थीं। रावण के भाई विभिषण, कुंभकर्ण और बहन सूर्पणखा के साथ ही देवताओं के कोषाध्यक्ष कुबेर देव भीरावण के भाई हैं। 2. एक बार रावण ने …

आगे पढ़िए »

शिवलिंग पर जल, बिल्व पत्र और आक क्यूं चढ़ाते हैं ?

शिवलिंग पर जल, बिल्व पत्र और आक क्यूं चढ़ाते हैं ? भारत के रेडियोएक्टिविटी मैप उठा लो तो हैरान हो जाओगे की भारत सरकार के नुक्लिएररिएक्टर के अलावा सभी ज्योत्रिलिंगो के स्थानों पर सबसे ज्यादा रेडिएशन पाया जाता है। शिवलिंग और कुछ नहीं बल्कि न्यूक्लिअर रिएक्टर्स ही हैं तभी उन पर …

आगे पढ़िए »

हिंदू धर्म में क्यूँ हैं मौली श्रधा का प्रतीक |

मौली क्यों बांधते हैं? मौली बांधना वैदिक परंपरा का हिस्सा है। यज्ञ के दौरान इसे बांधे जाने की परंपरा तो पहले से ही रही है, लेकिन इसको संकल्प सूत्र के साथ ही रक्षा-सूत्र के रूप में तब से बांधा जाने लगा, जबसे असुरों के दानवीर राजा बलि की अमरता के …

आगे पढ़िए »

ज्वालादेवी, जहां मां ने दिखाया था अकबर को चमत्कार

jawala ji

माता सती के 51 शक्तिपीठों में से एक ज्वालादेवी का मंदिर भारतीय राज्य हिमाचल के कांगड़ा घाटी में स्थित है। यहां माता की जीभ गिरी थी। इसीलिए इसका नाम ज्वालादेवी मंदिर है। हालांकि इस मंदिर की एक और कथा है जो इंद्र की पत्नी शचि से जुड़ी है। इस मंदिर …

आगे पढ़िए »

भैरव अवतार

शिव महापुराण में भैरव को परमात्मा शंकर का पूर्ण रूप बताया गया है। एक बार भगवान शंकर की माया से प्रभावित होकर ब्रह्मा व विष्णु स्वयं को श्रेष्ठ मानने लगे। तब वहां तेज-पुंज के मध्य एक पुरुषाकृति दिखलाई पड़ी। उन्हें देखकर ब्रह्माजी ने कहा- चंद्रशेखर तुम मेरे पुत्र हो। अत: …

आगे पढ़िए »