Friday , October 20 2017
Home / Trending Now / नोट बंधी से खालिस्तानी संगठनो को हुआ भारी नुकसान , पाकिस्तान हैं परेशान
नोट बंधी से खालिस्तानी संगठनो को हुआ भारी नुकसान , पाकिस्तान हैं परेशान

नोट बंधी से खालिस्तानी संगठनो को हुआ भारी नुकसान , पाकिस्तान हैं परेशान

खालिस्तानी संगठन जो कनाडा, यूके , जर्मनी , पाकिस्तान से संचालक दुविधा है अचानक से उनकी फंडिंग होनी बंध हो गई है । सब मोदी जी के उठाये कदम से परेशान हैं।

आये दिनों पंजाब में खालिस्तानी आतंकवादी पकडे जा रहे थे । 15 अगस्त के पास इनका एक दस्ता पकड़ा गया है जो पंजाब में बड़ी करवाई के फ़िराक मे था। इनके सब संचालक बाहर से भारत में बैठे नुमाइंदों को पैसे देकर ज़हर फैला रहे थे , आज वो परेशान है।

आतंकवादी समर्थक फिल्मे और गाने।

खालिस्तानी आतंकवादियो को हीरो बना कर फिल्मो में दर्शाया जाता था और लोगो में पुलिस के खिलाफ नफरत की भावना को जगा रहे थे। आम भोले भाले लोग फिल्मे को देख कर भारत में नफरत का माहौल बना रहे थे।

पंजाब के बैठे खालिस्तानी संचालको के पास इतना काला धन था जिस से गैर कानूनी हथियार भी बना रहे थे और आम लोगो के बीच अपने साख भी । उस पैसे का प्रयोग सोशल मीडिया में हिन्दू धर्म के खिलाफ प्रचार पर भी जोर दे रखा था । फिल्मो में गरीब सिख के झूठी दास्ताँ दिखा कर आखिर में आतंकवादी बना कर दिखा रहे थे आज वही हैरान परेशान है भारत में काला धन वापिस कैसे भेजा जाए। देखा जाये तो खलिस्तानियो को 10 साल पीछे धकेल दिया गया है।

रेफरेंडम 2020

खालिस्तानी 2020 में अलग पंजाब की इलेक्शन करवाना चाहते थे , रेफरेंडम से यह भारत से पंजाब को अलग कर सकें । इसके तहत यह पूरी दुनिया में रेफरेंडम 2020 की बड़े स्तरः पर मीटिंग्स करके भारत के खिलाफ ज़हर उगल रहे हैं । इस सब की फंडिंग एकमात्र भारत का दुश्मन पाकिस्तान ही कर रहा था ।

भारत की नयी सरकार ने यह इतिहासिक फैसला लेते हुये देश विरोधी ताकतों पर नकेल कसी है।

#नोटबैन : GB रोड़ के कोठों का बढ़ा कारोबार, जानें कैसे