Thursday , December 14 2017
Home / Trending Now / पाकिस्तान ने पाकिस्तानी हिन्दुओं को यह दिया तोहफा?
पाकिस्तान ने दिया पाकिस्तानी हिन्दुओं को यह दिया तोहफा?
पाकिस्तान ने दिया पाकिस्तानी हिन्दुओं को यह दिया तोहफा?

पाकिस्तान ने पाकिस्तानी हिन्दुओं को यह दिया तोहफा?

दीपों का पर्व दीपावली 30 अक्टूबर को मनाया जाएगा। पाकिस्तान के हिन्दू अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं ने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से दीपावली के अवसर पर सार्वजनिक अवकाश और विशेष सहायता पैकेज दिए जाने की मांग की थी । पाकिस्तान हिन्दू काउंसिल के मुख्य संरक्षक एवं सत्तारूढ पार्टी के सांसद डॉ रमेश कुमार वंकवानी ने कहा कि अवकाश की घोषणा किए जाने से समुदाय में व्याप्त, वंचित होने के अहसास को कम करने में मदद मिलेगी।

पाकिस्तान सरकार ने उस मांग को पारित कर दिया है , ६७ साल्लों में पहली बार पाकिस्तानी हिन्दू दिवाली का लुत्फ उठा रहे हैं | नवाज़ शरीफ ने पहली बार दिवाली पे  सभी पाकिस्तानी हिन्दू परिवारों को दिवाली कि बधाई दी है और कुछ धन राशी भी हिन्दू संगठनो को दिया गया है | हिन्दू नेता डॉ रमेश कुमार वंकवानी ने दा डौन अख़बार को बताया कि १०-१० लाख कि धन राशी मंदिरों के संचालको को दी गई है |  उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदायों के मुद्दों के समाधान में किसी भी पार्टी की दिलचस्पी नहीं है। उन्होंने कहा कि मलेशिया, नेपाल, श्रीलंका, म्यांमार, मॉरीशस, गुयाना, त्रिनिदाद और टोबैगो, सूरीनाम, सिंगापुर, फिजी, भारत तथा बांग्लादेश सहित 100 से अधिक देशों में दीपावली पर आधिकारिक अवकाश होता है, लेकिन पाकिस्तान में इस दिन कार्यालय न जाने वाले हिन्दुओं को अनुपस्थित घोषित कर दिया जाता है। पर पहली बार पाकिस्तनी हिन्दुओं में हर्ष और उलास है |   पाकिस्तान के अनुसूचित जाति अधिकार आंदोलन के अध्यक्ष एवं हरे राम फाउंडेशन के निदेशक रमेश जयपाल ने कहा कि हिन्दुओं को यह अहसास कराने के लिए दीपाली पर सार्वजनिक अवकाश जरूरी है कि वे इस देश में समाज का हिस्सा हैं।

जयपाल ने कहा कि यूसुफ रजा गिलानी दीपावली पर हिन्दुओं को बधाई देने वाले पहले प्रधानमंत्री थे। हम वर्तमान सरकार पहली बार उनके राह पर चली है  हिन्दू धार्मिक नेता गुरू सुखदेवजी ने कहा कि दिवाली प्रेम और भाईचारे का संदेश देती है। उन्होंने कहा कि देश में चरमपंथ के खतरे से बचने के लिए इस संदेश को प्रसारित करने की आवश्यकता है। सरकार को इस अवसर का इस्तेमाल इस संदेश के प्रसार के लिए करना चाहिए।

क्यूँ होती है स्वर्ण मंदिर कि दिवाली दुनिया में सबसे बेहतरीन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *