Monday , November 20 2017
Home / Trending Now / RSS में शामिल होंगे रजनीकांत , दक्षिण में हिंदुत्व कि लहर
RSS में शामिल होंगे रजनीकांत , दक्षिण में हिंदुत्व कि लहर
RSS में शामिल होंगे रजनीकांत , दक्षिण में हिंदुत्व कि लहर

RSS में शामिल होंगे रजनीकांत , दक्षिण में हिंदुत्व कि लहर

नई दिल्ली : दक्षिण भारत के सुपरस्टार रजनीकांत संघ में शामिल होने कि बात सामने आ रही है | संघ के कार्यकर्ताओं पर हो रहे आये दिनों जान लेवा हमलो पर संघ सतर्क हुआ |

रजनीकांत अपने आप  को एक गौरवशाली हिन्दू मानते हैं | रजनीकांत एक ऐसा कदम लेने जा रहे हैं जिस से  तमिल्नाडू   में हिंदुत्व का शंखनाद हो जायेगा

सूत्रों के अनुसार उनकी इस विषय में RSS के बड़े लीडर्स और भाजपा के कुछ शीर्ष नेताओं कि रजनीकांत से बात हुई है और एक ऐसा निर्णय लिया जा रहा है जिससे तमिलनाडु की राजनीति में भूगोल बदल  जायेगा , हो सकता है  रजनीकांत बहुत जल्द ही  राजनीति की दुनिया में कदम रखने जा रहे हैं।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार रजनीकांत खुद की राजनीतिक पार्टी बना सकते हैं और  हो सकता है  बीजेपी का भी  साथ मिल  जाए। माना जा रहा है कि रजनीकांत को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक एस गुरुमूर्ति नई पार्टी बनाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

योगी आदित्यनाथ का ऐसा रूप देख हर हिन्दू गदगद हो उठेगा

कई लोगों का मानना है कि तमिलनाडु में मौजूदा राजनीतिक स्थिति से रजनीकांत काफी नाखुश हैं | कुछ लोग इसे राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की मृत्यु के बाद आए खालीपन से जोड़कर भी देख रहे हैं, जिनका पिछले साल कई महीनों तक अस्पताल में रहने के बाद उनका निधन हो गया था और यही वजह है कि उनके राजनीति में आने को लेकर कयास तेज हो गए हैं। एस गुरुमूर्ति बीजेपी और रजनीकांत को एक मंच पर लाने के लिए अहम भूमिका निभा रहे हैं।
बकौल गुरुमूर्ति, तमिलनाडु में रजनीकांत को हर उम्र के लोग चाहते हैं ऐसे में अगर वो राजनीति में आए तो उन्हें लोगों का साथ मिलेगा। एआईएडीएमके के वीके शशिकला को मुख्यमंत्री के पद के लिए चुने जाने के बाद रजनीकांत के फैंस ने सोशल मीडिया पर उन्हें मैसेज भेजे हैं। इनमें उन्होंने ‘थलाइवा’ से उन्हें इस स्थिति से बचाने के लिए कहा है, जिसमें ये भी लिखा गया है कि शशिकला को सीएम नहीं बनना चाहिए।

केरल में संघ के लोगों की हत्याओं के विरोध में अमृतसर आरएसएस ने का विरोध सम्मेलन : RSS

गौरतलब है कि बीजेपी और संघ  की तमिलनाडु में पैठ न के बरारबर है इसी वजह से  राज्य में अपनी जगह बनाने के लिए रजनीकांत को राजनीति से जुड़ने के लिए मनाने में लगी हुई है । पार्टी सूत्रों की मानें तो जयललिता के निधन के बाद बीजेपी की इस कोशिश में तेजी आ गई है।